Continue Reading
Posted in पुस्तक समीक्षा

उपन्यास ”छपाक-छपाक” ( समीक्षा)

सामाजिक और धार्मिक जीवन में ऊँचे स्थान पर मानी जाने वाली नर्मदा नदी के साथ ही वहाँ के आलम को…

Posted in आलेख लेख संस्मरण

क्रांतिवीर नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ——-मिथिलेश

यूँ तो नेताजी कब इस दुनिया को छोड़ गये यह आज भी रहस्य बना हुआ है लेकिन ऐसा मना जाता…

Continue Reading
Posted in साहित्यिक हलचल

भारतीय दलित साहित्य अकादमी द्वारा आकांक्षा यादव को ‘’डा. अम्बेडकर फेलोशिप राष्ट्रीय सम्मान-2011‘‘

भारतीय दलित साहित्य अकादमी ने युवा कवयित्री, साहित्यकार एवं चर्चित ब्लागर आकांक्षा यादव को ‘’डा0 अम्बेडकर फेलोशिप राष्ट्रीय सम्मान-2011‘‘ से…

Continue Reading
Posted in Uncategorized

देश के भविष्य

बच्चो, तुम इस देश के भविष्य हो, तुम दिखते हो कभी, भूखे, नंगे || कभी पेट की क्षुधा से, बिलखते-रोते….

Continue Reading
Posted in Uncategorized

कैलाश मानसरोवर यात्रा वृतांत द्वारा राजीव गुप्ता

आधुनिकीकरण के इस दौर में वर्तमान समय तथ्य – आधारित है परंतु यह भी सत्य है कि आस्था और तथ्य…

Posted in कविता गीत कविता हिन्दी साहित्य मंच

प्रकृति

रात की निर्जनता का सृजन कोई बतला दे !इस उदासता और कठोरता का मर्म कोई बतला दे !!सात समन्दर की…

Posted in कविता गीत कविता हिन्दी साहित्य मंच

शकुन्तला

दुर्वाशा के वचनो का ना था उन्हे ज्ञान !वह सुन रही थी पक्षियो का सुरीला गान !!दुर्वाशा ने क्रोधित होकर…

Posted in कविता गीत कविता बाल कविता बाल साहित्य मेरी माँ और मैं हिन्दी साहित्य मंच

मेरा परिचय

पता नही क्यू मै अलग खङा हूं दुनिया से !अपने सपनो को ढूढता विमुख हुआ हूं दुनिया से !!पता नही…

Posted in कविता गीत कविता बाल कविता बाल साहित्य हिन्दी दिवस हिन्दी साहित्य मंच

हम कैसे जिये

हम इस दुनिय मे कैसे जिये, रात जैसे अंधेरे मे हम कैसे चले !हम हिंदी निबंध आगे तो है साफ लेकिन,पिछे की…